All Published Poetries

You will like to read it

उसको कफ़न बदलना है

है अजीब सा मौन यहाँ पर! किस भाँति यह क्रंदन है?
दृश्य बड़ा वीभत्स यहाँ, निर्जनता का 

May 21, 2018

कोई नहीं होता

यहाँ बहुरूप सी दुनिया में हर कोई रँगा सा है,
निरन्तर एक से ही रंग में, कोई नहीं होता।
कमी तो सब बता दे...

May 8, 2018

मित्रता अवसर नहीं

मित्रता अवसर नहीं, यह एक उत्तम भाव है।
स्वार्थ की सिद्धि नहीं यह जीव का स्वभाव है।।
क्य...

April 20, 2018

मैं हार गया बचपन

मैं हार गया बचपन, मेरे जीवन का सावन।
क्रीड़ाओं का उपवन, यादों का सुंदरवन।।

उन्मुक्त सा वो...

April 20, 2018

भाई का न प्यार मिला

एक उदर से जन्म लिया, पर दो-तरफा संसार मिला।
जीवन में हर खुशी मिली, पर भाई का न प्यार मिला।।

April 20, 2018

थूक चाटने चले गए

क्रंदन है उद्यानों में, पौधे अब न महफूज रहे!
उपवन में दो फूल मगर, माली कुल्हाड़ी पूज रहे।

प...

April 20, 2018