All Published Poetries

You will like to read it

नोटबंदी पर मन की बात

असहिष्णुता की आंच है सुलगी, घी डलवाने आया हूँ।
मोदी जी मैं तुमसे, मन की बात सुनाने आया हूँ...

April 3, 2017

अब तुम्हरे जाने के बाद

दिल का दर-दर दुबक रिया है, अब तुम्हरे जाने के बाद।
कोना-कोना सुबक रिया है, अब तुम्हरे जाने के बाद।

April 3, 2017

साहित्य संगम सम्मान समारोह की स्मृतियाँ

🌷u0938u092eu094du092eu093eu0928 u0938u092eu093eu0930u094bu0939 u0915u0940 u0938u094du092eu0943u0924u093fu092fu093eu0901🌷
nu0906u0913 u0938u0943u091cu0928 u0915u0930u0947u0902 u0938u094du092eu0943u0924u093fu092fu093eu0901 u0964
nu0938u092du0940 u091cu0928u094bu0902 u0915u...

November 10, 2016

शारदे वंदना

शारदे भाव सुमन स्वीकार |
वीणा के हर तार – तार वीणा वादिनि झनकार |

घिरी घटा घन घोर निराशा |
तिमिर तोम चंहु ओर क...

November 5, 2016

वैदिक जीवन

वैदिक जीवन था सरल ,
एक सुखद अहसास ।
आपाधापी में हुये ,
सबसे अधिक निराश ।।

भौतिकता के स...

November 4, 2016

अनमोल पल

जीवन में सबके सदा , कुछ पल हैं अनमोल ।
आओ सबके साथ में , कुछ यादें ले खोल ।।

जीवन में मिल जा...

November 4, 2016